स्कूल बैग बनाने का बिजनेस कैसे स्टार्ट करे? सारी जानकारी हिन्दी में

स्कूल बैग बनाने का बिजनेस कैसे स्टार्ट करे? सारी जानकारी हिन्दी में -हमारे भारत देश की कुल आबादी एक सौ बीस करोड़ के लगभग हैं। भारत देश के सभी राज्यों में छात्रों की संख्या बहुत ज्यादा हैं। गांवों मे शिक्षा के क्षेत्र में जागरूकता आने के कारण अब ग्रामीण विद्यालयों में भी छात्रों की संख्या में निरंतर वर्द्धि देखने को मिल रही है। जिसके गांव एवं शहरी क्षेत्रों में स्कूल बैग की आवश्यकता बढ़ रही है। स्कूल बैग बनाने का बिजनेस भविष्य में भी वृद्धि होने की आशंका है।

पहले बैग बनाने के इतने संसाधन कंपनी के पास नहीं होते थे जिसके कारण कमी आ जाती थी लेकिन आज आधुनिक semi automatic एंड havy duty मशीनों के साथ के कारण बैग बनाना बहुत ही सरल हो गया है।

Read More - T Shirt Printing Business kaise shuru kare

अगर कोई व्यक्ति अपने बिजनेस को शुरू करना चाहता है तो उसके लिए स्कूल बैग बनाने का बिजनेस बहुत ही लाभदायक हैं क्योंकि इसकी भविष्य में भी डिमांड बड़ने की आशंका है।

बैग बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए बहुत सारी सामानों की जरूरत पड़ती है। लेकिन यह उस पर निर्भर करता है कि आपका बिजनेस कितना बड़ा है।

अगर आप बिजनेस को छोटे स्तर से आरंभ करते हैं तो आपको ज्यादा वस्तुओ की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, लेकीन अगर आप इसे बड़े पैमाने पर शुरु करेंगे, तो आपको बहुत अधिक वस्तुओ की आवश्यकता पड़ती है।

इन्वेशमेंट

जमीन

बिजनेस प्लान

उद्योग

मशीनें

इलेक्ट्रॉनिक लाइट

कच्चा सामान

स्टॉफ

व्हीकल आदि।

हम  आपको विस्तार से बताएंगे की किस वस्तु की कितनी ज्यादा जरूरत होती है।

1. इन्वेशमेंट और जमीन

अगर आप बड़ा बिजनेस शुरु करेंगे, तो आपको उसमे ज्यादा इन्वेशमेंट और जमीन की आवश्यकता होगी। अगर आप बिजनेस को छोटे लेवल पर शुरु करेंगे, तो आपको कम इन्वेशमेंट और जमीन की ज़रूरत पड़ेगी। अगर आपके पास जमीन हैं तो आप कम रुपयों से भी काम चला सकते हैं, लेकिन आपके पास जमीन नहीं है या आप किराए पर लेते या खरीदते हो तो आपको उसमें ज्यादा इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा।

2. मशीन ,फैक्ट्री/बिल्डिग एवम लाइट

स्कूल बैग का बिजनेस शुरू करने के लिए मशीनों की भी अत्यंत आवश्यकता पड़ती है। मशीनें भी अलग-अलग प्रकार की होती हैं उनकी रेट है अलग-अलग होती है। यह भी आपके इन्वेस्टमेंट पर निर्भर करता है। उसके बाद आपको एक बिल्डिंग या फैक्ट्री की आवश्यकता होगी जिसमे मशीनें लगेगी और अलग-अलग सामान को रखने के लिए उनके लिए बड़े हॉल की आवश्यकता पड़ेगी।

मशीन व फैक्ट्री के बाद अब आपको मशीनों को चलाने के लिए और फैक्ट्री में काम आने के लिए बिजली की आवश्यकता होगी।  इन सबके लिए भी आपको खर्चा करना पड़ेगा।

3 स्टिचिंग मशीन :- तीस हजार रुपए

2 वर्किंग टेबल्स :- पंद्रह हज़ार

1 हैंडटूल:- पंद्रह हज़ार

सेल्स टैक्स एण्ड इंश्योरेंस :- सात हज़ार

कुल बजट:- सतहत्तर हजार

3. बैग बनाने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट्स

स्कूल बैग के बिजनेस के लिए आपको सबसे पहले तो अपनी कंपनी का एक ब्रांड नाम बनाना होगा। उसके बाद कंपनी में आरओसी के माध्यम से रजिस्टर करें। अब आपको बिजनेस स्टार्ट करने के लिए सरकार से भी अनुमति लेनी पड़ेगी और उनकी कानूनी प्रक्रियाओं की पालना करनी पड़ेगी। आप अपने स्टेट की गाइडलाइन को वेरिफाई करे एवम उसके अनुसार काम करे।

इंपोर्टेंट जीएसटी नंबर जरुरी हैं

यू. एम. रजिस्ट्रेशन

उद्योग लाइसेंस

दुकान अधि नियम लाईसेंस और भी बहुत कुछ

4.  मशीनरी उपकरण

मशीनों के साथ साथ और भी बहुत कुछ सामान होता है जिनकी महत्वपूर्ण आवश्यकता होती है। जैसे टेबल , केंचिया, हथौड़ा और भी छोटी वस्तुये।

5. कच्चा माल

बिजनेस को शुरू करने में मुख्य भूमिका कच्चे माल की ही होती है क्योंकि उससे ही वस्तुओं का निर्माण किया जाता है। बैग बनाने के लिए मुख्य रूप से निम्न कच्चे माल की अवश्यकता पड़ती है।

नायलॉन एवम कैनवास फैब्रिक

बुकल्स

लॉक्स

सेविंग थ्रेड

वेलक्रो

फाउंडेशन मेटेरियल 

रिबन, बटन

चैन एवम् स्टीकर आदि।

6. स्कूल बैग बनाने के लिए प्रक्रिया

अगर आप ही से घर से आराम करते हैं तो आपको इसके लिए ज्यादा प्रक्रिया शुरू नहीं करनी पड़ेगी। लेकिन अगर आप इसे बड़े पैमाने पर शुरू करते हो तो आपको ज्यादा प्रोसेस की आवश्यकता होगी। जैसे कि एरिया, लेंड सलेक्शन, प्रोजेक्ट प्लान, रजिस्ट्रेशन, फाइनेशियल, एग्रीमेंट आदि।

मुझे आशा है कि आपको इस जानकार को पढ़कर अच्छा महसूस हुआ होगा, अगर आप कोई बिजनेस करना चाहते हैं तो आप स्कूल बैग बनाने का बिजनेस कर सकते है।


Post a Comment

Previous Post Next Post